माली में 10 दिन के आपातकाल की घोषणा, 3 दिन का राष्ट्रीय शोक

बमाको| माली की सरकार ने राजधानी बमाको में कल एक होटल पर हुए आतंकवादी हमले के बाद 10 दिन के आपातकाल की घोषणा की है| उन्होंने तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी की है। माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बौबाकर कीटा की अध्यक्षता में बुलाए गए कैबिनेट के सत्र के बाद सरकार ने देश भर में 10 दिनों के लिए आपातकाल की घोषणा की और यह अवधि कल से शुरू होगी|

उल्लेखनीय है कि राजधानी स्थित रेडिसन ब्लू होटल पर इस्लामी बंदूकधारियों ने कल तड़के हमला बोलते हुये 170 लोगों को बंधक बना लिया था। होटल पर हुये हमले में 21 लोगों की मौत हुई है, जबकि सात अन्य घायल हुए हैं। मरने वालों में दो आतंकवादी भी शामिल हैं। बंधकों में 20 भारतीय भी शामिल थे, जिन्हें सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। सरकार ने हमला पीड़ितों के लिए तीन दिन का शोक मनाए जाने का आह्वान किया है|

बताया जा रहा है कि हमलावरों ने जिस वक्त होटल पर धावा बोला वो ‘अल्लाह हु अकबर’ के नारे लगा रहे थे| होटल में घुसते ही उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी| जैसे-जैसे समय बीता हमलावरों ने अपना खूंखार रूप दिखाना शुरू किया और अब तक करीब नौ लोगों की हत्या कर दी है| हालांकि उन्होंने आठ लोगों को होटल से बाहर जाने दिया जो कुरान की आयतें पढ़ पाने में सक्षम रहे| होटल में हमले की सूचना मिलते ही माली की सुरक्षा एजेंसियां और सेना ने कार्रवाई शुरू कर दी| फौज ने होटल की घेराबंदी की| करीब 80 लोगों ने होटल से भागकर अपनी जान बचाई|

इस बीच फ्रांसीसी मंत्री ने कहा कि माली हमले में अल्जीरियन आतंकी मुख्तार बेलमुख्तार का हाथ है। अल जजीरा टेलीविजन चैनल पर प्रसारित ऑडियो रिकॉर्डिंग में खूंखार अल्जीरियाई आतंकवादी मुख्तार बेलमुख्तार के अल मुराबितून संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है| यह संगठन बेलमुख्तार बटालियन और माली के मूवमेंट फॉर मोनोथिज्म एंड जिहाद इन वेस्ट अफ्रीका (मुजाओ) गुट के विलय से बना था। विलय के बाद इसमें सैकड़ों माली के लड़ाके भर्ती किए गए। संगठन ने ट्विटर पर हमले की जिम्मेदारी ली। यह पहला स्थानीय गुट है, जिसमें सोशल मीडिया पर हमले से जुड़ा ऐलान किया है।

पहले ही माना जा रहा था कि हमला इस्लामिक स्टेट से जुड़े आतंकियों का कारनामा नहीं है। अल मोउराबितौन खुद को अलकायदा से जुड़ा बता रहा है। आतंकी संगठन का प्रभाव उत्तरी माली में है, जहां उसने इस साल कई छोटे हमले किए हैं। सुरक्षा विश्लेषकों के मुताबिक, बमाको के होटल पर हमला संगठन का सुर्खियां पाने का प्रयास भी माना जा रहा है। इससे पहले मार्च और अगस्त में हुए दो हमलों की जिम्मेदारी इस समूह ने ली थी। मुख्तार बेलमुख्तार को संगठन का सरगना बताया जाता है। इस संगठन ने अल्जीरिया में 2013 में गैस प्लांट पर हुए हमले की जिम्मेदारी भी ली थी। अमेरिका ने दावा किया था कि बेलमुख्तार 2013 में मारा गया, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं है।

इससे पहले माली के एक कस्बे में अगस्त में ऐसा ही हमला हुआ था| आतंकियों ने 24 घंटे तक लोगों को बंधक बनाए रखा था और गोलीबारी चलती रही थी| इस हमले में सेना के 4 जवान, संयुक्त राष्ट्र के 5 वर्कर और 4 हमलावर मारे गए थे|

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com