मिशेल ने की नयी पहल ‘लेट गर्ल लर्न’ की शुरूआत

वॉशिंगटन| दुनियाभर में 6.2 करोड़ लड़कियों के स्कूल से बाहर रहने के मद्देनजर अमेरिकी प्रथम महिला मिशेल ओबामा ने बालिका शिक्षा में व्याप्त वैश्विक संकट को केवल निवेश ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक मान्यताओं और तरीकों से हल करने का आह्वान किया है।

मिशेल ने कहा कि उन्होंने नयी पहल ‘लेट गर्ल लर्न’ की शुरूआत की है। इसके जरिए बालिका नेतृत्व शिविरों और स्कूल में शौचालय जैसी बालिका शिक्षा परियोजनाओं के लिए फंड मिलेगा, जिससे संघर्ष क्षेत्र में लड़कियां शिक्षित होंगी और गरीबी, एचआईवी तथा ऐसे मुद्दों का समाधान होगा, जिससे लड़कियां स्कूल से बाहर रह जाती हैं।

मिशेल ने कहा कि हम बालिका शिक्षा के संकट का तब तक निदान नहीं कर सकते जब तक कि हम गहरी सांस्कृतिक मान्यताओं और तौर तरीकों का समाधान ना करें जिससे कि संकट के समाधान में मदद मिले।

उन्होंने कहा, ‘हम जानते हैं कि कानूनी और सांस्कृतिक बदलाव संभव है क्योंकि हमने अपने देश सहित दुनिया भर के देशों में यह देखा है।’ मिशेल ने बताया कि एक सदी पहले, अमेरिका में महिलाएं वोट नहीं देती थीं।

दशकों पहले नियोक्ताओं को महिलाओं को भर्ती किये जाने से इनकार करने का अधिकार था और घरेलू हिंसा को अपराध के तौर पर नहीं बल्कि निजी पारिवारिक मामलों के तौर पर देखा जाता था। लेकिन इन तौर तरीकों को बदलने के लिए हर पीढ़ी में पुरुष और महिलाएं दोनों ही पूरे साहस से लगे हुए हैं|

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com