बिहार के विधायकों की सम्पत्ति ने 5 वर्षों में पकड़ी रफ्तार

पटना। आर्थिक रूप से पिछड़े माने जाने वाले राज्य बिहार के विधायकों की संपत्ति में दिन दोगुनी, रात चौगुनी से भी ज्यादा रफ्तार से इजाफा हुआ है। जानकारी के अनुसार पिछले पांच वर्षों में बिहार के ज्यादातर विधायकों की संपत्ति में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है।

सूत्रों के अनुसार बिहार में बीते 5 सालों में 160 विधायकों की संपत्ति बेहिसाब बढ़ी है। सत्तासीन जदयू विधायक पूनम देवी इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। 2010 में अपने चुनावी हलफनामे में उन्होंने अपनी जायदाद 1.87 करोड़ रुपये बताई थी, जो पांच साल बाद ताजा हलफनामे में 2103 फीसद बढ़कर 41.34 करोड़ हो गई।

पूनम की तरह ही नवादा से जदयू विधायक पूर्णिमा देवी की संपत्ति में भी बीते पांच सालों में 480 फीसद का इजाफा हुआ है। 2010 में उनकी संपत्ति 2.78 करोड़ थी, जो अब 16.14 करोड़ रुपये है। पूर्णिमा गोविंदपुर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं।

बिहार इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिसर्च (एडीआर) द्वारा तैयार किए गए आंकड़ों के अनुसार, बीते पांच सालों में विधायकों की संपत्ति में औसतन 1.71 करोड़ की बढ़ोतरी हुई है। यह चौंकाने वाले आंकड़े ऐसे समय के हैं, जब तेजी से विकास करने वाले राज्यों की सूची में बिहार का विकास दर 18.10 फीसद है, यानि माननीयों की संपत्ति में विकास राज्य के विकास से सैंकड़ों गुना अधिक तेजी से हुआ है।

ताजा आंकड़ों के अनुसार, लखीसराय से भाजपा विधायक विजय कुमार सिन्हा की संपत्ति‍ पांच वर्षों में 4.13 करोड़ से बढ़कर 15.64 करोड़ हो गई। इसी तरह दरभंगा (देहात) से राजद विधायक ललित कुमार यादव की जायदाद भी 2.83 करोड़ से बढ़कर 12.89 करोड़ के आंकड़े तक पहुंच गई। चिरैया से सपा विधायक अवनीश कुमार सिंह की संपत्ति‍ भी 1.25 करोड़ से 8.18 करोड़ रुपये हो गई है।

एडीआर के विश्लेषण की मानें तो बीते पांच सालों में 160 विधायकों की संपत्ति‍ में औसतन 199 फीसद का इजाफा हुआ है। पार्टी के हिसाब से देखा जाए तो भाजपा के 66 विधायक, जदयू के 52 और राजद के 12 विधायक इस सूची का हिस्सा हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com