उबर रेप केस में आरोपी के खिलाफ अदालत का फैसला आज

नई दिल्ली। दिल्ली की अदालत पिछले साल टैक्सी में एक 25 वर्षीय महिला यात्री के साथ बलात्कार और गला दबाने का प्रयास करने के मामले में दोषी करार दिए गए उबर कैब के चालक के खिलाफ आज सजा सुना सकती है।

इस मामले में 32 वर्षीय शिव कुमार यादव को दोषी ठहराने वाली अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कावेरी बवेजा सजा पर दलीलें सुनकर आदेश जारी कर सकती हैं।

शिव कुमार को दोषी करार देने के बाद एडिशनल सेशन जज कावेरी बावेजा ने सजा पर बहस सुनने के लिए 23 अक्टूबर की तारीख तय की थी, लेकिन उस दौरान पुलिसवालों की इंडो-अफ्रीकन समिट की सुरक्षा में व्यस्तता के चलते दोषी को अदालत में पेश नहीं किया जा सका। पुलिस की मांग पर अदालत ने सुनवाई 3 नवंबर तक के लिए टाल दी थी।

अदालत ने बीती 20 अक्टूबर को आरोपी यादव को भारतीय दंड संहिता की धाराओं 376 2एम बलात्कार के दौरान चोट पहुंचाना, जिंदगी खतरे में डालना, 366 शारीरिक संबंध बनाने के इरादे से अपहरण, 506 आपराधिक धमकी और 323 चोट पहुंचाना के तहत अपराधों के लिए दोषी ठहराया था।

बलात्कार के दौरान महिला की जिंदगी खतरे में डालने के अपराध में न्यूनतम 10 साल के सश्रम कारावास और अधिकतम उम्रकैद का प्रावधान है। विशेष फास्ट ट्रैक अदालत ने अपने फैसले में कहा कि चालक ने पीड़ित के शरीर में लोहे की छड़ घुसाने की धमकी दी और उसे 16 दिसंबर 2012 के सामूहिक बलात्कार की दर्दनाक घटना की याद दिलाई।

जाकारी के अनुसार यह घटना पिछले साल पांच दिसंबर की रात की है जब गुड़गांव में काम करने वाली महिला इंदरलोक स्थित अपने घर लौट रही थी। आरोपी चालक शिव कुमार यादव को सात दिसंबर 2014 को मथुरा से गिरफ्तार किया गया था और फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में है|

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com