यूपी : पंचायत चुनाव में मंत्री, विधायकों के रिश्तेदारों को मिली हार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा का सेमीफाईनल माने जा रहे पंचायत चुनाव के परिणामों ने प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों को जमीनी हकीकत से रूबरू करा दिया है। क्या सपा सपा, क्या बसपा, क्या भाजपा और क्या कांग्रेस लगभग सभी दलों के दिग्गजों की प्रतिष्ठा धूल में मिल गई है।

प्रदेश में जिला पंचायत के 3112 पदों के लिए हुए चुनाव में अब तक 425 के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। क्षेत्र पंचायत के 77,576 पदों में 72 हजार के परिणाम घोषित कर हो चुके हैं। मतगणना रविवार को सबेरे से लगातार जारी है और इसके सोमवार देर रात तक चलने की उम्मीद है।

विधानसभा के 2017 में होने वाले चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दलों ने इस पंचायत चुनाव को ‘सेमी फाइनल’ की तरह लड़ा था। पूरी तैयारी से सभी दल उतरे थे। बस, फर्क यह रहा कि भाजपा सहित कई दलों ने अपने प्रत्याशी घोषित किए थे तो सपा, बसपा ने प्रत्याशियों को समर्थन दिया था। सभी दलों ने खूब प्रचार भी किया था।

हाल यह रहा कि अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों को बुरी हार का मुंह देखना पड़ा। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के निर्वाचन क्षेत्र आजमगढ़ में ओवैसी की पार्टी ने खाता खोला। यह सपा के लिए खतरे की घंटी है, क्योंकि यूपी में वह सपा के मुस्लिम वोट बैंक पर निगाह गड़ाए है।

भाजपा को बड़ा नुकसान हुआ। पंचायत चुनाव लड़ने का फैसला उसे उलटा पड़ गया। दिग्गज नेताओं के निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी ढेर हो गयी है। आगरा, कानपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, लखनऊ, मेरठ, मुरादाबाद, बरेली सहित तमाम गढ़ों में भाजपा के प्रत्याशी चुनाव हार गए हैं। हालांकि, गोंडा से सांसद बृजभूषण शरण सिंह की पत्नी केतकी सिंह जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव जीत गयी हैं। भाजपा की पंचायत चुनावों में दुर्गति को देखते हुए प्रदेश प्रभारी ओम माथुर मंगलवार से चुनाव परिणामों की समीक्षा करेंगे।

खामोशी से चुनाव लड़ी बसपा के प्रत्याशी कई जिलों में जीते हैं। अम्बेडकर नगर जिले में जिला पंचायत की 43 सीटों में 25 बसपा ने जीती हैं। पूर्व मंत्री लालजी वर्मा की पत्नी शोभावती यहां से चुनाव जीत गई हैं। प्रदेश जंतु उद्यान मंत्री एसपी यादव की पत्नी, बहू व बेटा बलरामपुर जिले में बुरी तरह से पंचायत चुनाव हारे हैं।

रायबरेली से मंत्री मनोज पाण्डेय का भाई अमिताभ पाण्डेय तथा सरैनी से सपा विधायक देवेन्द्र प्रताप सिंह के पुत्र दिव्यांबर चुनाव हार गए हैं। कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद की पत्नी व बेटा दोनों फैजाबाद में चुनाव हार गए हैं।

एमएलसी लीलावती कुशवाहा की बेटी भी चुनाव हार गयी है। सपा के दिवंगत पूर्व विधायक मित्रसेन यादव की दोनों बहुएं चुनाव जीत गयी हैं। कैबिनेट मंत्री अरविन्द सिंह गोप के भाई अशोक सिंह बाराबंकी से चुनाव जीत गए हैं।

बाराबंकी नगर से सपा विधायक सुरेश यादव के छोटे भाई की पत्नी राजवती भी चुनाव जीत गयी हैं। गोंडा में पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह की पत्नी विजय लक्ष्मी चुनाव जीत गयी हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com