उप्र : सांप्रदायिक हिंसा पर भाजपा-सपा में तनातनी

लखनऊ| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सांप्रदायिक तनाव को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) द्वारा उस पर लगाए गए आरोपों को निराधार करार देते हुए सोमवार को सपा को आड़े हाथों लिया। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री व सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के यह कहने के बाद कि राज्य में हुई सांप्रदायिक हिंसा में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का हाथ है, भाजपा प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने इसे न केवल ‘बेबुनियाद, बल्कि फूट डालने वाला’ भी बताया।

पाठक ने कहा, “सत्तारूढ़ पार्टी अतीत की तरह ही अपने गलत कार्यो, अक्षमता और कानून-व्यवस्था बनाए रखने की नाकामी को छिपाने का प्रयास कर रही है।” उन्होंने कहा, “चौधरी का आरोप है कि विपक्ष अखिलेश यादव के विकास कार्यो से डरा है और हालिया सांप्रदायिक हिंसा में वे लोग शामिल हैं, जो पूर्व में मुजफ्फरनगर दंगों के पीछे थे.. उनके (उप्र सरकार) पास पुलिस और खुफिया तंत्र है, तो फिर वे कार्रवाई क्यों नहीं करते?”

उत्तर प्रदेश राज्य में पिछले कुछ दिनों में करीब 10 जिलों में सांप्रदायिक हिंसा भड़कने के मामले सामने आए हैं। 28 सितंबर को राज्य के दादरी शहर में गोमांस खाने के अफवाह में भीड़ ने एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com