क्या आप जानते हैं, खराब तरह से गाडी चलाना भी है अवसाद का लक्षण

लखनऊ। जो व्यक्ति खराब तरीके से गाड़ी चलाते हैं, मादक पादर्थों का सेवन करते हैं वह भी अवसाद रोग से ग्रसित हो सकते हैं।यह कहना है प्रो. अनिल निश्चल का। उनके अनुसार, जनसंख्या के लगभग 10 प्रतिशत लोग अवसाद से ग्रसित हैं। अवसाद के प्रमुख कारण अत्यधिक उदासी, रोना, चिडचिडापन, आत्महत्या का विचार आना, भूख न लगना या अत्यधिक भोजन करना है। डाॅ. बीरबल के अनुसार, अतिरिक्त थकान, हर समय मोबाइल में उलझे रहना, फेसबुक की लत, एकाग्रता में कमी और हमेशा झूठे वादे करना आजकल यह सभी अवसाद के लक्षण हो सकते हैं। मरीजों के लिए अच्छी खबर यह है कि सही उपचार, सलाह व सहायता की मदद से अवसाद के मरीज पूरी तरह से सामान्य जीवन जी सकते हैं।

डाॅ. अतुल अग्रवाल का बताते है कि सिर का दर्द विभिन्न प्रकार की बीमारियों की वजह से होता है। जैसे तनाव, माइग्रेन, क्लस्टर, ट्यूमर, मस्तिष्क के रक्तस्राव मेनेन्जाइटिस, इन्सेफलाइटिस, न्यूरेल्जिया आदि इसकी वजह हो सकते हैं। सिर दर्द की समस्या सभी उम्र के लोगों को पूरी दुनिया में है जो मरीज के सामान्य जीवन को भी प्रभावित करता है और कुछ मरीजों में यह अवसाद का कारण भी बन जाता है। जिसके प्रति सतर्क रहने की जरुरत है।

हेपेटाइटिस बी से होती है 50 फीसद लीवर की बीमारियाँ

डाॅ. अभय वर्मा ने बताया कि हेपेटाइटिस वाॅयरल भारत में प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या है। वर्ष 1955 से अब तक कई बार हेपेटाइटिस की महामारी हो चुकी है। हेपेटाइटिस लीवर फेल होने का एक प्रमुख कारण है। लगभग 50 प्रतिशत लीवर की बीमारियां हेपेटाइटिस बी की वजह से होती हैं तथा 20 प्रतिशत हेपेटाइटिस सी की वजह से होती हैं।उनके अनुसार, हेपेटाइटिस के प्रशिक्षण व उपचार के लिए आज लखनऊ में विश्व की सर्वोत्तम व आधुनिक उपचार उपलब्ध हैं।

मधुमेह, डिप्रेशन एवं हाईपरटेन्शन की राजधानी बना भारत

डाॅ. अशोक चन्द्रा ने बताया कि डायग्नोसिस एवं ट्रीटमेन्ट करना एक बहुत ही महत्वपूर्ण एवं आवश्यक कार्य है ।हिन्दुस्तान को यदि स्वस्थ बनाना है तो शहरी एवं ग्रामीण इलाकों के सभी चिकित्सकों को जीवन शैली सम्बन्धित बीमारियों के बारे में जानकारी सरल भाषा में देने की अत्यन्त आवश्यकता है। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत को मधुमेह, डिप्रेशन एवं हाईपरटेन्शन की राजधानी बोला जाने लगा है। डाॅ. पीके धवन ने बताया कि हर एक चिकित्सक को अपने मरीजों में डायबिटीज एवं हाईपरटेन्शन की स्क्रीनिंग करनी चाहिए। यह बीमारियां, जिन्हें बड़े शहरों की बीमारी समझा जाता था, वह अब ग्रामीण इलाकों में भी बहुत तेजी से बढ़ रही है जिससे बचने के प्रयास होने चाहिए

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com