यूपी में योगी सरकार के तीन साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में की प्रेस कोंफ्रेंस

 उत्तर प्रदेश में भारतीय जानता पार्टी (BJP) की योगी सरकार ने 18 मार्च को अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे कर लिये हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताया। लखनऊ में बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनौतियों और संभावनाओं के महासमर में संकल्पों और सिद्धांतों की नाव से यात्रा करते हुए आज उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार ने तीन वर्ष पूरे कर लिए हैं।

सीएम योगी ने कहा कि हमने राज्य में कानून व्यवस्था बहाल की है, विकास कार्यों की गति को बढ़ाया और लोकतांत्रिक मूल्यों में आम लोगों के विश्वास को मजबूत किया है। इस दौरान सीएम योगी ने एक पुस्तक का विमोचन भी किया। सीएम योगी ने कहा कि 403 विधानसभाओं की अलग-अलग पुस्तिकाएं आ रही हैं। उन पुस्तिकाओं में देश, प्रदेश, जिले और उन विधानसभा क्षेत्र में हुए कार्यों का उल्लेख है। लखनऊ में बुधवार को इस पुस्तक के विमोचन के साथ ही गुरुवार से अगल-अलग जिलों में शुरू होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा के नेत्रत्व में उत्तर प्रदेश सरकार विकास, विश्वास और सुशासन के तीन वर्ष के कार्यकाल को पूरा करने जा रही है। उत्तर प्रदेश की धारणा को विकास, विश्वास में बदलने में हमें सफलता मिली इसके पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा है। लोकतांत्रिक मूल्यों और आदर्शों पर आम जन का विश्वास समाप्त हो रहा था उसे बहाल करते हुए उसे सुशासन की तरफ ले जाने में सफलता पाई है। इन तीन वर्षों में जो प्रदेश के सामने चुनौतियां थी उन्होंने ही हमें जूझने की प्रेरणा दी। इसी का परिणाम है कि यूपी पूरे देश में नए प्रतिमान स्थापित कर रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रयागराज कुंभ में 24 करोड़ 56 लाख श्रद्धालुओं ने अपनी सहभागिता बनाकर स्वच्छता, सुरक्षा और सुव्यवस्था का जो मानक प्रस्तुत किया, वह अपने आप में दुनिया के लिए यूनिक ईवेंट बन गया। वाराणसी में 15वां प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन ने नए मानक स्थापित किए। प्रदेश में लोकसभा चुनाव एक लाख 63 हजार बूथों पर बिना किसी हिंसा के सम्पन्न होना एक बड़ी उपलब्धि रही। उन्होंने कहा कि 68 वर्षों के बाद उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस का आयोजन की शुरूआत रही हो या फिर एक जिला एक उत्पाद योजना और यूपी इन्वेस्टर्स समिट, निवेश की संभावना को बढ़ाने की योजना, हर जिला मुख्यालय और तहसील मुख्यालयों को फोर लेन से जोड़ने, प्रदेश की एयर कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के प्रयास, इन सभी दिशाओं में हमने कार्य किये हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में सिर्फ दो से तीन एयरपोर्ट चल रहे थे, जबकि आज सात एयरपोर्ट संचालित हैं। 11 नए एयरपोर्ट में कार्य चल रहा है। प्रदेश के जेवर एयरपोर्ट को दुनियां की सौ सर्वश्रेष्ट परियोजनाओं में शामिल कराने में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि ये विकास कार्य इस बात के प्रमाण है कि सोच बदली है। हमने जनविश्वास की बहाली की है। इसके कारण हम प्रदेश को विकास और विश्वास के एक नए दौर में ले जाने में सफलता प्रात की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने अनेक क्षेत्रों में सफलता पाई है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का चालीस फीसद कार्य पूरा हो चुका है। इस वर्ष के अंत तक शुरू हो जाएगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे भी कार्य शुरू हो गया है। अगले वर्ष के अंत तक उसे भी जनता के लिए खोलेंगे। मेरठ को प्रयागराज से जोड़ने के लिए गंगा एक्सप्रेस-वे भी शुरू हो रहा है। उन्होंने कहा कि 2017 में प्रदेश का एक भी शहर मेट्रो के साथ नहीं जुड़ा था। आज प्रदेश के चार शहर मेट्रो के साथ जुड़े हैं। कानपुर और आगरा में मेट्रो का कार्य शुरू हो गया है। दिल्ली से मेरठ रैपिड ट्रैन चल रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में पहले चार से पांच जिलों में बिजली की नियमित आपूर्ति हो पाती थी। आज प्रदेश के सभी जिलों में बिना भेदभाव के विद्युत आपूर्ति लोगों तक पहुंच रही है। सौभाग्य योजना में 1 करोड़ 24 लाख लोगों को निशुल्क बिजली कनेक्शन दिया गया। हमने 1 लाख 67 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 30 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर दिलाया गया। 2 करोड़ 61 लाख लोगों को शौचालय दिया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आयुष्मान योजना में 5 लाख लोगों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ पहुंचाने का काम किया गया है। एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस सभी जिलों में पहुंचाई गई। मेडिकल कालेज की लम्बी शृंखला तैयार की गई है। तीन वर्ष के दौरान 30 नए मेडिकल कॉलेज बनाने जा रही है, जिनमें सात में पिछले वर्ष प्रवेश शुरू हो गए। आठ में इस सत्र से प्रवेश शुरू हो रहा है। प्रदेश में 14 नए मेडिकल कालेज अलगे सत्र में शुरू किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की सभी योजनाओं में उत्तर प्रदेश ने सफलता के नए आयाम स्थापित किये हैं। दशकों से लंबित योजनाओं को हमारी सरकार में पूरी कर रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसाने का 36 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया गया। प्रदेश के अंदर दशकों से लंबित पड़ी लगभग डेढ़ दर्जन सिंचाई की योजनाओं को पूरा किया जा रहा है। प्रदेश के अंदर किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य से ज्यादा कीमत देने का कार्य सरकार कर रही है। हमने भंडारण की छमता को बढ़ाया है। इसके साथ ही पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम को भी सुधारने का कार्य किया है। पहले गरीबों को राशन नहीं मिलता था। आज 80 हजार से अधिक दुकानों में ई-पॉश मशीन लगाया गया है। इसके माध्यम से यदि किसी व्यक्ति को कोटेदार से समस्या है तो वो दूसरे के यहां से खाद्यान्न ले सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने तीन वर्ष पहले किसानों की योजनाओं को आगे बढ़ाने की शुरूआत के साथ ही अवैध बूचड़खानों को बंद करने और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया गया था। प्रदेश में कानून का राज हो इसके बारे स्पष्ट संदेश देने के लिए जो कार्य शुरू किये गए थे उसके परिणाम भी आने लगे हैं। पिछले तीन वर्ष के दौरान एक भी दंगा प्रदेश में नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि कानून के राज के कारण ही डकैती के मामलों में साठ फीसद की कमी आई है। लूट के मामलों में 47 फीसद की कमी, हत्या के मामलों में 21 फीसद की कमी, बलवा के मामले 27 फीसद कम हुए और दुष्कर्म के मामले 18 फीसद कम हुए हैं। हमने पुलिस के आधुनिकीकरण की दिशा में कार्य किये हैं। एक लाख 37 हजार से अधिक पुलिसकर्मी भर्ती किए गए हैं। कानून-व्यवस्था बेहतर होने के कारण ही आज प्रदेश में निवेश की संभावनाएं बढ़ी हैं। हमारी सरकार ने तीन वर्षों 33 लाख युवाओं को नौकरी और रोजगार दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने संचारी रोग नियंत्रण में काफी कार्य किया गया है। आज हम इंसेफ्लाइटिस पर अंकुश लगाने 75 फीसद सफल हुए हैं। इसके कारण होने वाली मौंतों पर 95 फीसद तक अंकुश लगाने में सफल हुए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर व्यापक इंतजाम किये गए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों का बकाया गन्ना मूल्य का 92 हजार 442 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। पिछली सरकार में चीनी मिलों के बंद होने काम किया गया, लेकिन पिछले 3 साल में एक भी चीनी मिल बंद नहीं हुई है। जैसे अन्य छेत्रो में यूपी आगे है, वैसे ही गन्ना उत्पादन और चीनी उत्पादन और इथेनॉल के उत्पादन में प्रदेश नम्बर वन पर हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक परिवर्तन हुआ है। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 50 लाख से अधिक छात्र बढ़े हैं। आपरेशन कायाकल्प के तहत 92 हजार से अधिक विद्यालयों को बुनियादी सुविधाएं दी गई हैं। एक करोड़ 80 लाख बच्चों को दो यूनिफॉर्म के साथ बैग, शूज और स्वेटर उपलब्ध कराया गया है। माध्यमिक शिक्षा में 193 इंटर कालेज बनाए गए हैं। उच्च शिक्षा ने भी नई छलांग लगाई। तीन वर्ष में 28 निजी विश्वविद्यालयों के बनाने के साथ ही आज आठ नए विवि बनाने जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ की मेजबानी में सम्पन्न डिफेंस एक्सपो अत्यंत सफल रहा। इससे 50,000 करोड़ रुपये के निवेश का मार्ग प्रशस्त हुआ। उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावनानुरूप ‘एक ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी’ बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि गांव, गरीब, किसान, महिला, मजदूर, नौजवान सहित सभी के हित-कल्याण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com