दिल्ली के पास खोने को कुछ नहीं है. ऐसे में वह मनजोत कालरा, गुरकीरत मान सिंह, सायन घोष तथा जूनियर डाला को मौका दे सकती है. गेंदबाजी में दिल्ली के पास ट्रेंट बोल्ट, अमित मिश्रा जैसे गेंदबाज हैं लेकिन वे विफल ही रहे हैं. बेंगलोर के लिए भी यह सीजन खराब ही रहा है. बेंगलोर की टीम कप्तान विराट कोहली और एबी डिविलियर्स पर निर्भर है. इन दोनों के अलावा टीम को क्विंटन डी कॉक और ब्रेंडन मैक्कलम से काफी उम्मीदें थीं लेकिन ये दोनों विफल रहे हैं.

मोइन अली को कोहली ने काफी देर से मौका दिया, लेकिन वो भी मौके को भुना नहीं पाए. कोलिन डी ग्रांडहोमे का प्रदर्शन औसत ही रहा है. गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर ने बेंगलोर के लिए कमान संभाल रखी है लेकिन तेज गेंदबाजों ने इन दोनों का साथ नहीं दिया. हालांकि उमेश यादव ने कुछ मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है. टिम साउदी विफल रहे हैं.