जीन्स में दिखे अच्छा शेप, इसलिए महिलाएं करवा रही हैं वैजाइनल सर्जरी

नई दिल्ली| बीते कुछ सालों से महिलाओं में स्किन टाईट जींस पहनने का ट्रेंड काफी बढ़ा है| और जीन्स में भी खूबसूरत दिखने के लिए महिलाएं आजकल तरह तरह के तरीके अपना रही हैं| एक प्लास्ट‍िक सर्जन की मानें तो स्किनी जीन्स में गुप्तांग शेप में दिखे, इसके लिए महिलाएं आज-कल वैजाइनल सर्जरी का सहारा ले रही हैं। इन लड़कियों और महिलाओं की मांग होती है कि कॉस्मेटिक सर्जरी करके उनकी वेजाइना का शेप और स्टाइल बदल दिया जाए।

प्लास्ट‍िक सर्जन ने ये भी बताया है कि बीते कुछ समय में डिजाइनर वैजाइना सर्जरी कराने वाली लड़कियों की संख्या में काफी तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है। वैजाइनल सर्जरी कराने वालों में 16 साल की लड़की से लेकर 70 साल की महिलाएं तक शामिल हैं। ये सर्जरी प्राइवेट पार्ट के ऊपरी हिस्से या सबसे बाहरी भाग पर की जाती है|

अब ऐसे में प्रश्न ये आता है कि आखिर महिलाएं वैजाइना की सर्जरी करवाती क्यों है? इसके जवाब में ब्रि‍टेन के गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर अहमद इस्माइल बताते हैं कि, ‘वैजाइना का अपना आकार होता है और यह हर महिला में उसके अनुरूप होता है। अगर आपको प्राइवेट पार्ट में किसी तरह का दर्द या तकलीफ नहीं है तो ये बिल्कुल सही है और आपको किसी भी तरह की सर्जरी की जरूरत नहीं है’।

डॉक्टर अहमद के अनुसार, ‘महिलाओं में अचानक से आए इस बदलाव के लिए मीडिया में आने वाली खबरें और सेलेब्रेटीज जिम्मेदार हैं। इन्हीं की वजह से अब महिलाएं इस तरह की सर्जरी को जरूरी समझने लगी हैं। उन्हें यह लगने लगा है कि सर्जरी कराकर ही वो खूबसूरत बन सकेंगी’।

इस्माइल बताते हैं कि, ‘सबसे बड़ी समस्या तो यह है कि वे अपने प्राइवेट पार्ट्स की तुलना दूसरी महिलाओं के साथ करती है। मेरे पास ऐसी कई महिलाएं आती हैं जो ये पूछती हैं कि क्या उनका प्राइवेट पार्ट नॉर्मल है’?

डॉक्टर इस्माइल कहते हैं कि, ‘ऐसा पूछने वाली महिलाओं से मैं कहता हूं कि परफेक्ट लुकिंग वैजाइना जैसी कोई चीज होती ही नहीं है। हर औरत के शरीर की बनावट अलग होती है। कोई भी अंग एक आकार, एक रूप, एक रंग का नहीं हो सकता है और अंगों के संदर्भ में आदर्श अंग जैसी कोई बात हो ही नहीं सकती’।

डॉक्टर इस्माइल के अनुसार, ‘शरीर के सभी अंगों की तरह वैजाइना भी उम्र के साथ बदलती है। उसका आकार और रंग उम्र के साथ बदल सकता है, ऐसे में डरने की या चिंता करने की जरूरत नहीं है’।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com