पुलिस के घोड़े शक्तिमान की मौत

नई दिल्ली| उत्तराखंड में एक प्रदर्शन के दौरान पीटे गए पुलिस के घोड़े शक्तिमान की मौत हो गई है. पिछले दिनों शक्तिमान पर हमले के बाद उसकी टांग को सर्जरी कर काट दिया गया था.

शक्तिमान की मौत पर एक तरफ जहां सब सक्ते में हैं. वहीं राजनीतिक गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी हो गया है. जहां उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शक्तिमान की मौत पर खेद जताते हुए कहा कि हम सोच रहे थे शक्तिमान की हालत में सुधार है.

दूसरी तरफ कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि जिस तरह मोदी ने लोकतंत्र की हत्या की वैसे ही बीजेपी विधायक ने शक्तिमान पर जानलेवा हमला दुर्भाग्यपूर्ण है.

जहां कांग्रेस नेता शक्तिमान की मौत के लिए बीजेपी केखिलाफ मोर्चा खेल चुके हैं वहीं बीजेपी नेता अजय भट्ट ने शक्तिमान की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा है कि इलाज के नाकाफी इंतजामों के चलते शक्तिमान की मौत हुई.

दरअसल उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी के विधायक ने एक विरोध-प्रदर्शन के दौरान लाठियां बरसाकर पुलिस के घोड़े ‘शक्तिमान ‘ की टांग तोड़ दी थी. इस मामले ने खूब तूल पकड़ा था जिसके बाद भाजपा विधायक को सफाई देनी पड़ी थी.

शक्तिमान पर हमले के बाद पहली बार लगाई गई आर्टिफिशियल टांग सर्जरी के जरिए हटा दी गई थी. डॉक्टरों ने अमेरिका से एक नया पैर मंगवाया जिसकी कीमत लगभग तीन हजार डॉलर थी. पिछले 10 साल से उत्तराखंड पुलिस के लिए काम कर रहे शक्तिमान की टांग काटे जाने के बाद लोग तो सदमे में थे ही पुलिस महकमा भी सदमे में था.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com