दिल्ली में सम-विषम योजना का दूसरा चरण आज से

 

नई दिल्ली। दिल्ली में सम-विषय योजना का दूसरा चरण शुरू हो गया अगले 15 दिनों तक रोजाना सड़कों पर 2000 यातायात कर्मी, 580 प्रवर्तन अधिकारी एवं 5000 से अधिक नागरिक रक्षा स्वयंसेवक तैनात किए जायेंगे।

परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि एक योजना तैयार की गयी है जिसके तहत शहर को इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 11 क्षेत्रों में बांटा गया है। हर क्षेत्र में 10 उपक्षेत्र होंगे। हर उपक्षेत्र में एक सचल दल काम करेगा।

राय ने इस योजना का नाम प्रवर्तन योजना बताया साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली परिवहन विभाग की प्रवर्तन शाखा के 588 अधिकारी इस योजना के दौरान विभिन्न दलों में बांटकर तैनात किए जाएंगे।

सचल दल से आने वाले मामलों पर गौर करने के लिए 20 सदस्यीय विशेष कार्यबल बनाया गया है। राय ने बताया कि प्रवर्तन टीमों के पास दस सूत्री चार्ट हैं जिसमें आईएसबीटी, रेलवे स्टेशनों, स्वास्थ्य संस्थानों, बड़े चौराहों, आईजीआई हवाई अड्डे के आसपास के क्षेत्र एवं भीड़भाड़ वाले भवन शामिल हैं।

दिल्ली यातायात पुलिस के 2000 अधिकारी सड़कों पर रोजाना तैनात किए जाएंगे। यातायात विभाग ने शहर में 200 ऐसे चौराहों की पहचान की जहां उनके कर्मी टीमों में तैनात किये जाएंगे।

एक कार्यक्रम के में वायू प्रदूषण का जिक्र करते हुए केंदीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि भारत उत्सर्जन मापदंड के लागू होने से 2020 तक प्रदूषण 90 फीसदी कम हो जाएगी।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, सरकार ने भारत उत्सर्जन मापदंड शुरू करने की तारीख 2024 से घटाकर 2020 करने का फैसला किया है। तब केवल भारत षष्”म वाले वाहनों को भी सड़कों पर चलने की इजाजत होगी।

इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा। इससे वायू प्रदूषण 90 फीसदी घट जाएगी।”  सम-विषम योजना के दूसरे चरण की ओर इशारा करते हुए कहा कि तबतक के लिए सभी राज्य अपने उपाय एवं नीतियां लागू करने के लिए स्वतंत्र हैं।”

राय ने कहा कि सरकार इस योजना के दौरान स्कूल के बाद बच्चों को लाने जा रही कार की समस्या का हल ढूढ नहीं पायी है।जिन कारों में स्कूली वर्दी में बच्चे जा रहे हैं, उन्हें सम विषम से छूट है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com