Home / व्यवसाय / सुविधा: अब रिटर्न भरना होगा और भी आसान

सुविधा: अब रिटर्न भरना होगा और भी आसान

केंद्र सरकार रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को और सरल बनाने के लिए जल्द ही बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है। इस बदलाव के तहत जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के फॉर्म को सरल बनाया जाएगा तो आयकर रिटर्न के फॉर्म और प्रक्रिया को भी और आसान करेंगे। इस कदम से कारोबारियों और आम जनता को रिटर्न दाखिले में सुविधा होगी।

राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय ने मंगलवार को कहा कि जीएसटी रिटर्न भरने के लिए एक अप्रैल 2019 को नया और सरल फॉर्म जारी किया जाएगा। सरकार ने फॉर्म को सहज और सुगम बनाने के लिए संबंधित पक्षों से राय भी मांगी थी। उन्होंने भरोसा जताया कि सरकार जीएसटी संग्रह के अपने बजट को हासिल कर लेगी। साथ ही इसके मासिक लक्ष्य को बढ़ाकर 1.10 लाख करोड़ रुपये करना चाहते हैं।

दूसरी ओर, आयकर विभाग भी अपने रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया सरल बनाने के लिए प्रीफिल्ड रिटर्न फॉर्म जारी करने की तैयारी में है। इससे लोगों के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करना और असान हो जाएगा।

जीएसटी का नया फॉर्म
जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म वर्तमान में इस्तेमाल किे जा रहे जीएसटीआर-1 और जीएसटीआर-3बी की जगह लेगा। इसमें रिफंड प्रक्रिया को बेहतर करने के साथ पूरी तरह ऑनलाइन और करदाताओं के अनुकूल बनाया जा रहा है।

आयकर फॉर्म बदलेगा
आयकर विभाग रिटर्न फॉर्म सरल बनाने के लिए पहले से मौजूद डाटा के आधार पर प्रीफिल्ड आईटीआर फॉर्म जारी करने की तैयारी में है। यह खर्च और आय पर आधारित होगा।

जीएसटीआर-3बी फॉर्म
जीएसटीआर-3बी फॉर्म स्वघोषित रिटर्न दाखिल करने जैसा है इसे संक्षिप्त बिक्री रिटर्न फॉर्म भी कहते हैं। इसमें कुल लेनदेन, बिक्री और खरीदारी व टैक्स का अनुमानित ब्योरा देते हैं। सभी सौदों के अलग विवरण की जरूरत नहीं होती। जीएसटी में पंजीकृत हर कारोबारी को यह फॉर्म अनिवार्य होता है।

आयकर रिटर्न भरने वालों की संख्या में 50% बढ़ोतरी
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने कहा कि आयकर रिटर्न दाखिल करने की वालों की संख्या में 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। नोटबंदी के असर से इस साल करीब 6.08 करोड़ आईटीआर मिल चुके हैं जो पिछले साल से 50 प्रतिशत अधिक हैं, इससे कर भी बढ़ा है।

आवेदन के बाद महज चार घंटे में मिलेगा पैन कार्ड
सीबीडीटी जल्दी ही चार घंटे के भीतर ई-पैन देने की शुरुआत करेगा। चंद्रा ने कहा, हम एक नई प्रणाली सामने *ला रहे हैं। एक साल या कुछ समय बाद हम चार घंटे में पैन देना शुरू *कर देंगे। आपको आधार पहचान देनी होगी और आपको चार घंटे में ही ई-पैन मिल जाएगा।

दो करोड़ लोगों को आयकर विभाग ने भेजा नोटिस
चंद्रा ने कहा कि विभाग ने रिटर्न दायर नहीं करने वाले तथा आय से रिटर्न के नहीं मिलने को लेकर लोगों को दो करोड़ एसएमएस भेजे हैं। अब तक 70 हजार से अधिक मामलों में करदाता और कर अधिकारी के आमने सामने हुए बिना ही ऑनलाइन समाधान भी निकाला जा चुका है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com