सचिन के बेटे अर्जुन ने जड़ा शतक, दिखी युवराज की झलक

मुंबई। क्रिकेट के भगवान और मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के संन्यास के बाद अब उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने एक नया कारनामा कर दिखाया है। मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से आयोजित जूनियर टूर्नामेंट में अर्जुन ने शानदार शतक लगाया है। शतक बनाते ही वे ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे। सचिन के फैन्स तो उनमें टीम इंडिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह की झलक देख रहे हैं।

जिमखाना स्टेडियम में खेले जा रहे अंडर-16 पय्याडे ट्रॉफी में सुनील गावस्कर एकादश की ओर से खेलते हुए अर्जुन तेंदुलकर ने 106 रन बनाए, जबकि उनकी टीम ने कुल 218 रन बनाए। इस पारी में उन्होंने 16 चौके और 2 छक्के लगाए। यह मैच रोहित एकादश के खिलाफ खेला गया। इस टूर्नामेंट में बाकी दो टीमें सचिन तेंदुलकर और दिलीप वेंगसरकर इलवेन हैं।

शतक बनाते ही अर्जुन ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे। फैन्स ने कहा कि इस पारी में अर्जुन बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह की तरह खेलते दिखे। अर्जुन अपने पिता के उलट लेफ्ट हैंडर हैं और बैटिंग से ज्यादा गेंदबाजी को लेकर चर्चा में रहते हैं। हालांकि, दोनों में एक समानता भी है। सचिन भी शुरुआत में बॉलर बनना चाहते थे।

2014 में मुंबई में स्मैश मास्टर ब्लास्टर टूर्नामेंट में अर्जुन ने धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल टीम की तरफ से खेलते हुए एक मैच में सिर्फ 42 गेंदों पर 118 रनों की धमाकेदार पारी खेली थी।

अर्जुन को सचिन के अलावा कई दिग्गजों से क्रिकेट की बारीकियां सीखने का अवसर मिल रहा है। अर्जुन ने बॉलिंग की टिप्स वसीम अकरम से ली हैं, वहीं साउथ अफ्रीकी खिलाड़ी जोन्टी रोड्स से फील्डिंग टिप्स भी ले चुके हैं।

मई, 2015 में मुंबई में वसीम अकरम ने अर्जुन को गेंदबाजी के गुर सिखाए थे। इसके बाद उन्होंने कहा था, ‘वह भारत या पाकिस्तान के किसी 15 वर्षीय किशोर की तरह क्रिकेट को लेकर जुनूनी हैं। मैंने उन्हें फिटनेस और कलाई की स्थिति को लेकर कुछ सामान्य बातें बताई।’

अकरम ने कहा, ‘मैंने समझाया कि दायें हाथ के बल्लेबाज के लिए गेंद को अंदर कैसे लाया जाता है। मैंने यह वादा किया है कि तीन महीने अभ्यास करने के बाद उन्हें दायें हाथ के बल्लेबाज को आउट स्विंग के बारे में बताऊंगा।’

अर्जुन नवंबर, 2011 हैरिस शील्ड शील्ड टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में शून्य पर आउट हो गए थे। ये वही टूर्नामेंट है जिसमें सालों पहले सचिन ने अपने स्कूल के लिए खेलते हुए साथी क्रिकेटर विनोद कांबली के साथ 664 रनों की रिकॉर्ड पार्टनरशिप की थी।

इस मैच में बैट से फ्लॉप होने के बाद अर्जुन ने बॉलिंग में 22 रन देकर 8 विकेट लिए थे और टीम को जीत दिलाई थी। अर्जुन ने अपना पहला शतक मई, 2012 में बनाया था। उन्होंने 13 साल की उम्र में मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अंडर-14 समर वैकेशन टूर्नामेंट में 124 रन बनाए थे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com