ISIS के ठिकानों पर रूस की जवाबी कार्रवाई, बमों पर लिखा ‘पेरिस के नाम’, 600 आतंकी ढेर

मॉस्को| रुस ने इस्लामिक स्टेट जिहादियों के सीरिया स्थित ठिकानों पर बमबारी करना शुरू कर दिया है| बीते 31 अक्टूबर को मिस्र के सिनाई में आतंकवादियों ने रूस का एक यात्री विमान गिरा दिया था| इसमें 224 लोग मारे गए थे। इसके बाद पेरिस में हमला हुआ जिसमें 129 लोगों की मौत हो गई थी। इन हमलों की जवाबी कार्रवाई में रूस ने अपने बमों पर ‘हमारे लोगों के नाम’ और ‘पेरिस के नाम ‘ लिखकर इस्लामिक स्टेट के अड्डों पर बमबारी करना शुरू कर दिया है| रूस के रक्षा मंत्रालय ने सीरिया पर क्रूज मिसाइल दागकर करीब 600 आतंकियों को मारने का दावा किया है|

एक रूसी टीवी चैनल ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें एक आदमी को काले रंग के पेन से हवाई बमों पर ‘हमारे लोगों के नाम’ और ‘पेरिस के नाम’ लिखते हुए दिखाया गया है| रूस के रक्षा मंत्री ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा “हमारे लोगों के लिए, पेरिस के लिए! ##Hmeymim एयरबेस के पायलट और तकनीशियन ने आतंकवादियों को हवाई डाक के ज़रिए चिट्ठी भेजी है।“

रूस के ये फाइटर जेट्स सीरिया में अपने एयरबेस पर पहुंचते हैं। इसके बाद ये आईएस के ठिकानों को तहस-नहस करने के लिए उड़ान भरते हैं। रूस की डिफेंस मिनिस्ट्री ने फाइटर जेट्स पर लगे बमों के फोटो टिवटर पर जारी किए हैं। इसमें कहा गया है, “हम आतंकियों को एयरमेल से मैसेज दे रहे हैं।” इतना ही नहीं इंटरनेट पर कुछ तस्वीरें वायरल हुई हैं जिनमें फ्रेंच जेट फाइटर्स की सीरिया में गिराई जा रही मिसाइलों को दिखाया गया है। इन पर लिखा है, “फ्रॉम पेरिस विथ लव”।

आमतौर पर रूस और फ्रांस में नजदीकियां नहीं मानी जातीं लेकिन दो घटनाएं इन दोनों देशों को करीब ले आई हैं। दोनों ही घटनाओं का जिम्मेदार आईएस को माना जा रहा है। रूस का पैसेंजर एयरक्राफ्ट भी आईएस ने गिराया और पेरिस अटैक के पीछे भी आईएस का ही हाथ है। इसलिए रूसी डिफेंस मिनिस्ट्री ने साफ तौर पर कहा है कि वह पेरिस अटैक के बाद फ्रांस के अफसरों के साथ काम कर रहे हैं। रूस के प्रेसिडेंट व्लादिमिर पुतिन और फ्रांस के प्रेसिडेंट फ्रांसुआ ओलांद अगले महीने क्रेमलिन में मिलने वाले हैं। रूस 30 सितंबर से सीरिया में आईएस के ठिकानों पर हवाई हमले कर रहा है।

आपको बता दें कि सिनाई में गिराए गए यात्री विमान में 224 लोग मारे गए थे जिसमें ज्यादातर रूसी थे और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस हमले के बाद संकल्प लिया था कि दोषियों को ‘बख्शा’ नहीं जाएगा। इसके बाद पेरिस हमले में 130 लोगों की जान चली गई जिसके बाद पुतिन और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने सीरिया पर जारी अपनी कार्रवाई में एक दूसरे का साथ देने पर सहमति जताई। यह दोनों नेता अगले हफ्ते क्रेम्लिन में भी मुलाकात करेंगे|

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com