सीपीआई आंकड़ों, रुपये की चाल पर रहेगी निवेशकों की नजर

मुंबई। देश के शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांकों में अगले सप्ताह उतार-चढ़ाव बना रहेगा। आगामी सप्ताह में वैश्विक बाजारों की चाल, आर्थिक आंकड़ों, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के निवेश, डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों से बाजार का रुख तय होगा।

आगामी सप्ताह अक्टूबर महीने के थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़ें और नियमित ईंधन मूल्य समीक्षा जारी होगी, जिस वजह से सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों (पीएसयू ओएमसी) के शेयरों पर नजर बनी रहेगी। इसके साथ ही निवेशक अमेरिका के आर्थिक आंकड़ों पर भी बराबर नजर बनाए रखेंगे।

अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक में ब्याज दरों में कटौती की प्रबल संभावनाओं की वजह से निवेशकों का रुझान इसकी ओर बना रहेगा। यदि इस बैठक में फेडरल रिजर्व ब्याज दरें बढ़ाता है तो इसका सीधा-सीधा असर भारतीय शेयर बाजार पर पड़ेगा।

वैश्विक स्तर पर फेडरल रिजर्व के साथ-साथ अमेरिका के अक्टूबर माह के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) के आंकड़ों, नेशनल एसोसिएशन ऑफ होम बिल्डर्स हाउसिंग मार्केट इंडेक्स और औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों पर भी निवेशकों की नजर बनी रहेगी।

आगामी सप्ताह में फेडरल ओपन मार्किट कमिटी (एफओएमसी) की 28 अक्टूबर 2015 को हुई बैठक के मिनट्स भी जारी होंगे। इसके साथ ही घरों की बिक्री के आंकड़ें भी जारी होंगे, जिस पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com