मोदी ने जम्मू-कश्मीर को दिए 80 हजार करोड़

जम्‍मू। पीएम मोदी ने आज जम्मू कश्मीर को 80 हजार करोड़ रुपये की सौगात दी। राज्य के दौरे पर गए प्रधानमंत्री ने श्रीनगर के शेर-ए-कश्‍मीर स्‍टेडियम में आयोजित रैली को संबोधित यह घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे कश्मीर का भाग्य बदलेगा, ये तो बस शुरुआत है। दिल्‍ली का खजाना आपके लिए है और ये दिल भी आपके लिए है। प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि ‘कश्‍मीर के लिए मुझे किसी की सलाह की जरूरत नहीं है। अटल जी ने हमें तीन मंत्र दिए थे, कश्‍मीरियत, जम्‍हूरियत, इंसानियत। कश्‍मीर के विकास के रास्‍ता इन तीन स्‍तंभों पर खड़ा है। हमें अटल जी के नक्‍शे-कदम पर चलना है।’

इसके बाद पीएम ने बगलिहार में हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के दूसरे चरण का उद्घाटन भी किया। यहां पीएम ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘आजादी के करीब 70 साल होने के बाद भी देश के 18 हजार गांवों में बिजली का खंभा भी नहीं लगा। इससे बड़ा दुर्भाग्‍य क्‍या हो सकता है। इसलिए हमने एक हजार दिन में 18 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। सरकार मशीनरी को समय सीमा दी है। जिसकी 24 घंटे 7 दिन मॉनिटरिंग की जाती है। हमारा दूसरा लक्ष्‍य 365 दिन 24 घंटे बिजली देने का है। लेह-लद्दाख में सोलर एनर्जी की बड़ी संभावना है।’ पीएम ने कहा कि ‘बिजली उत्‍पादन के रास्‍ते बदले जाएं और उसमें सरल पर्यावरण की रक्षा करने वाला मार्ग पानी और सूर्य की ऊर्जा से पैदा होने वाली बिजली है।’

इससे पहले शेर-ए-कश्‍मीर स्‍टेडियम में पीएम ने श्रीनगर-जम्मू हाइवे के लिए 34 हज़ार करोड़ रुपये का भी ऐलान किया। उन्होंने कहा कि इस हाइवे के बनने से नौ घंटे में पूरी होने वाली दूरी साढ़े तीन घंटे में पूरी हो सकेगी। वह बोले, उनका लक्ष्य कश्मीर और लद्दाख के नौजवानों को रोज़गार के अवसर देना है। इसके लिए यहां पर्यटन के साथ साथ दूसरे व्यापार को बढ़ावा देने पर बल दिया। पीएम ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अपार संभावनाएं हैं और इसे अब आगे बढ़ाना है।

पीएम ने रैली में लोगों से कहा कि विश्‍व में तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्‍यवस्‍था में आज भारत ने अपना नाम दर्ज करा दिया है। आज भारत के आर्थिक विकास की चर्चा होती है तो चीन के साथ तुलना होती है। भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। मैं केवल सपने नहीं देखता बल्कि जन-जन का साथ लेकर आगे बढ़ने का प्रयास करता हूं। भ्रष्‍टाचार खत्‍म करने में भारत चीन से आगे निकला है।

इससे पहले पीएम ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर में बाढ़ आने पर मैं भी उसकी पीड़ा उतनी ही महसूस करता था, जितनी आप करते थे। इस दौरान चीन के राष्‍ट्रपति भी भारत दौरे पर आए थे, लेकिन मैंने उनके सामने जन्‍मदिन नहीं मनाया। कश्मीर की बाढ़ से मुझे पीड़ा हुई, इसलिए मैं श्रीनगर आया। संकटों के बाद भी उबरा जा सकता है।

पिछले 14 महीनों में प्रधानमंत्री का ये चौथा जम्मू दौरा है, जहां वह बगलिहार हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के दूसरे चरण का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा वह जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे-44 के उधमपुर-बनिहाल के हिस्से को चार लेन का बनाए जाने की आधारशीला रखेंगे। उधर, विरोध की आशंका के चलते श्रीनगर में मोबाइल इंटरनेट सुबह 10 बजे से दोपहर दो तक बंद रखी गई है।

श्रीनगर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के स्‍थल के पास काले गुब्‍बारे लेकर विरोध करने के चलते जम्‍मू-कश्‍मीर के निर्दलीय विधायक इंजीनियर राशिद को आज हिरासत में ले लिया गया। गौरतलब है कि शेख अब्दुल राशिद की बीफ पार्टी को लेकर जम्मू कश्मीर विधानसभा में भी हंगामा हुआ था और बीजेपी विधायकों ने उन्हें सदन में ही पीट डाला था। राशिद पर पिछले महीने ही दिल्‍ली में काली स्‍याही भी फेंकी गई थी।

पीएम की रैली के लिए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम और रामबन को किले में तब्दील कर दिया गया। पुलिस के साथ-साथ अद्धसैनिक बलों और एसपीजी के जवान सुरक्षा में तैनात किए गए। हालांकि पीएम की रैली में कोई दिक्कत न हो इसके लिए कई अलगाववादी नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com