मुंबई : कल्याण-डोंबीवली निकाय चुनाव में शिवसेना का 52 व भाजपा का 41पर कब्जा

मुंबई। शिवसेना ने मुबंई के उपनगर कल्याण-डोंबीवली निकाय चुनाव में जीत हासिल की है। सेना ने 120 में से 52 सीटों पर जीत हासिल की है, वहीं भाजपा ने 41 सीटों पर कब्ज़ा जमाया है। दो सीटों पर मतदान नहीं हुए थे। वहीँ, राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को यहाँ भारी नुकसान हुआ है। इसके आलावा, यहाँ ओवैसी की पार्टी का भी खाता खुला।

कल्याण-डोंबिवली की सभी 122 सीटों के नतीजे सामने आ चुके हैं। इस चुनाव में कांग्रेस-एनसीपी को 4, एमएनएस के खाते में 9 सीटें आई हैं। बसपा को एक और अन्य के खाते में 9 सीटे गई हैं। कोल्हापुर की 81 सीटों में से बीजेपी+ के हाथ 32, कांग्रेस के हाथ 27, एनसीपी के हिस्से 15 और शिवसेना को 4 सीटें मिली हैं।

बीड में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। बीजेपी नेता पंकजा गोपीनाथ मुंडे इसी इलाके से ताल्लुक रखती हैं। यहां 4 में से तीन नगर पालिकाओं पर एनसीपी ने कब्जा जमा लिया है।

गौरतलब हो, भाजपा और शिवसेना वैसे दोनों पार्टियां महाराष्ट्र की मौजूदा सरकार में सहयोगी हैं लेकिन मुंबई के उपनगर नगर निकाय चुनाव में दोनों एक दूसरे को कड़ी टक्कर देते नज़र आए। एक तरह से यह चुनाव दोनों ही पार्टियों के लिए प्रतिष्ठा का मुद्दा बन गया था। अलग से चुनाव लड़ने का फैसला शिवसेना का था और इसके बाद पूरे अभियान में दोनों पार्टियों के बीच इतनी कड़वाहट दिखाई दी कि पिछले हफ्ते तो शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गठबंधन से हाथ खींच लेने की धमकी भी दे डाली।

शिवसेना की पुरानी कड़वाहट

फिलहाल नगर निकाय पर भाजपा-शिवसेना दोनों का ही राज है और लगभग एक महीने पहले शिवसेना ने पूरी 122 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था जिसके बाद इस दस साल पुराने गठबंधन को लेकर कई सवाल खड़े होने लगे हैं। गौरतलब है कि 2017 में होने वाले मुबंई के अहम नगरीय निकाय चुनाव होने वाले हैं और उससे पहले शिवसेना का इस तरह अकेले चुनाव लड़ने का फैसले इस गठबंधन के आखिरी दिनों की ओर भी संकेत करता दिख रहा है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com