अफ्रीका को कृषि विकास में मदद करने के साथ-साथ 10 अरब डॉलर ऋण देगा भारत

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत-अफ्रीका फोरम शिखर सम्मेलन के आखिरी दिन अफ्रीका को 10 अरब डॉलर का ऋण देने की घोषणा की। यह मौजूदा ऋण कार्यक्रम के अतिरिक्त होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भारत, अफ्रीका के कृषि विकास में मदद करेगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “अफ्रीकी देशों के साथ भारत की साझेदारी को मजबूती देने के लिए अगले पांच साल में अफ्रीका को 10 अरब डॉलर का रियायती ऋण मुहैया कराया जाएगा, जो मौजूदा ऋण कार्यक्रम से अलग होगा।”

मोदी ने भारत-अफ्रीका शिखर सम्मेलन के आखिरी दिन अफ्रीकी महाद्वीप को 60 करोड़ डॉलर की आर्थिक सहायता और भारत में अफ्रीकी देशों के छात्रों को 50,000 छात्रवृत्तियां देने का वादा भी किया। उन्होंने कहा, “हम 60 करोड़ डॉलर की बड़ी आर्थिक सहायता भी प्रदान करेंगे, जिसमें भारत-अफ्रीका विकास कोष का 10 करोड़ डॉलर और भारत-अफ्रीका स्वास्थ्य कोष का एक करोड़ डॉलर शामिल होगा।”

मोदी ने आगे कहा, “इसमें अगले पांच साल में भारत में 50,000 छात्रवृत्तियां भी शामिल होंगी। इससे पैन अफ्रीका ई-नेटवर्क और अफ्रीकी देशों में कौशल एवं प्रशिक्षण संस्थानों के विस्तार में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने तीसरे भारत-अफ्रीका फोरम शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “अफ्रीका के पास दुनिया की कुल कृषि योग्य भूमि का 60 प्रतिशत है, लेकिन यहां उत्पादन वैश्विक उत्पादन की तुलना में मात्र 10 प्रतिशत है। भारत अफ्रीका के कृषि क्षेत्र के विकास में मदद देगा। उन्होंने कहा कि अफ्रीका के कृषि क्षेत्र का विकास महाद्वीप की समृद्धि को बढ़ा सकता है और वैश्विक खाद्य सुरक्षा में भी मदद कर सकता है।

इसके साथ ही मोदी ने स्वास्थ्य सेवाओं, शिक्षा और कृषि के क्षेत्र में अफ्रीकी देशों द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना करते हुए कहा, “ऐसे मजबूत कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे स्वास्थ्य सेवाओं, शिक्षा और कृषि के क्षेत्र में तेजी से सुधार आ रहा है। अफ्रीका में अब प्राथमिक स्कूलों में नामांकन 90 फीसदी से अधिक हो गया है।”

मोदी ने आगे कहा कि अफ्रीका अब नवाचार की वैश्विक मुख्यधारा में शामिल हो गया है। मोदी ने कहा, “भारत वर्ष 2008 में हुए पहले भारत-अफ्रीका शिखर सम्मेलन में किए गए 7.4 अरब डॉलर के रियायती ऋण और 1.2 अरब डॉलर के अनुदान के वादे को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

मोदी ने कहा कि भारत, अफ्रीका में 100 क्षमता निर्माण संस्थानों का निर्माण कर रहा है। साथ ही बुनियादी ढांचा, सार्वजनिक परिवहन, स्वच्छ ऊर्जा, सिंचाई, कृषि व विनिर्माण क्षमता का भी विकास कर रहा है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com