खुलासा : पाक ने भारत के खिलाफ तालिबानियों का किया इस्तेमाल

नई दिल्ली । पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में भारत के बढ़ते प्रभाव से मुकाबले के लिए आतंकियों का इस्तेमाल छदम रूप से किया। सीआईए के निदेशक जॉन ब्रेनन के हैक किए गए निजी ई-मेल अकाउंट से विकीलीक्स द्वारा जारी दस्तावेजों के मुताबिक यह पता चला है। सीआईए की गोपनीय फाइल का भंडाफोड़ करने वाली वेबसाइट की ओर से जारी दस्तावेज में अफगानिस्तान और पाकिस्तान पर रिपोर्ट है और ईरान के प्रति अमेरिकी नीति का भी इसमें जिक्र है।

दरअसल, नवंबर 2008 में बराक ओबामा के अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित होने के तीन दिन बाद ब्रेनन ने रणनीतिक दस्तावेज में लिखा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में भारत का मुकाबला करने के लिए तालिबान का इस्तेमाल करता है। ब्रेनन ने 2008 में सात नवंबर को लिखा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में भारत के बढ़ते प्रभाव का मुकाबला करना चाहता है और अफगानिस्तान के प्रति अमेरिका की दीर्घावधि प्रतिबद्धताओं को लेकर चिंतित पाकिस्तान की अमेरिका के वहां से हटने की स्थिति में भारतीय और ईरानी हितों को साधने के लिए तालिबान के साथ कामकाजी संबंध बनाने की दिलचस्पी बढ़ाएगी।

ब्रेनन उस समय ओबामा के शीर्ष विदेश नीति और आतंक से मुकाबले संबंधी मामलों के सलाहकार थे। उस समय सीआईए निदेशक पद के लिए उनका नाम चल रहा था। हालांकि यह पद लियोन पेनेटा ने संभाला। ओबामा ने शुरुआत में ब्रेनन को अपना शीर्ष आतंक रोधी सलाहकार नियुक्त किया और जनवरी 2013 में सीआईए निदेशक के तौर पर उन्हें नामित किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com