पिछड़ों पर फोकस, सर्वणों से दूरी

नियमों को दरकिनार कर केशव ने बनायी टीम
मुस्लिमों से दूरी, महिलाओं का प्रतिनिधित्व घटा
उमेश कुमार

लखनऊ। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने आखिरकार अपनी जंबू टीम घोशित कर दी। लेकिन इस टीम पार्टी के संविधान को ही नजरअंदाज किया गया। इस टीम में पिछडों को साधने की पूरी कोशिश की गयी। वहीं सर्वणों एवं महिलाओं का प्रतिनिधित्व कम कर दिया गया। इस टीम में करीब 20 प्रतिशत आबादी वाले मुस्लिम समाज से भी दूरी बनायी गयी। इसके साथ ही पार्टी में चल रही गुटबाजी को खत्म करने के लिए सभी बडे नेताओं को खुश करने की कोशिश  की गयी।

केशव मौर्या ने जो टीम घोशित की है उसमें 41 सदस्य है। जबकि पार्टी के संविधान के अनुसार यह संख्या महज 27 ही होनी चाहिए। इसके अलावा उपाध्यक्ष एवं प्रदेश मंत्री के दस दस पदो ंके सापेक्ष 15- 15 नेताओं को मनोनीति किया गया है। इसी तरह महामंत्री के पांच पदो के सापेक्ष आठ पदों का सृजन किया गया है। इस बार टीम में सह कोशाध्यक्ष को एक नये पद का सृजन किया गया है।

इस टीम में नये चेहरों की जगह दी गयी है वहीं 17 पुराने लोगों की छुटृटी कर दी गयी है। वहीं महिलाओं का प्रतिनिधित्व कम कर दिया गया है। पुरानी टीम में 10 महिलाएं शामिल थी लेकिन इस नयी टीम में सिर्फ पांच महिलाओं को ही मौका दिया गया है। यूपी में करीब 20 प्रतिशत आबादी वाले मुस्लिम समाज से एक नेता को इस टीम में नहीं षामिल किया गया है।
भाजपा ने इस टीम के जरिये खास तौर पर पिछडों को साधने की कोषिष की है। 41 सदस्यीय इस टीम में 14 पद पिछडी जाति के नेताओं को दिया गया है। जिसमें यादव नहीं है। इसी तरह ब्राम्हणों को सात, ठाकुरों को छह, दलितों को चार, जाट को दो तथा एक पद खत्री समाज को दिया गया है। इससे पूर्व भाजपा प्रदेश में 44 जिलाध्यक्ष पिछडी जाति के बना चुकी है। वहीं पार्टी में यहां चल रही गुटबाजी को खत्म को करने के लिए सभी प्रमुख नेताओं को खुश करने की कोशिश  की है। पुराने नेताओं के साथ नये नेताओं को भी मौका दिया गया है। इसके साथ ही क्षेत्रीय संतुलन को साधने की पूरी कोशिश  की गयी है। पष्चिमी यूपी से 15, पूर्वांचल से11, भी दर्जन भर को शामिल किया गया है

वंशवाद का फिर जोर
भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या भी पूर्व की तरह अपनी टीम में वंशवाद को खत्म करने के बजाए और बढा दिये।  राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के पुत्र राजवीर सिंह को पुनः प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया है। इसी तरह पार्टी के वरिश्ठ नेता लालजी टण्डन के पुत्र गोपाल टण्डन को पुनः उपाध्यक्ष बनाया गया है। यह तीनों पद पूर्व की तरह नई टीम में यथावत रखे गये है। इसके अलावा केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र के करीबी माने जाने वाले विजय बहादुर पाठक को प्रदेश महामंत्री बनाया गया हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com