भारत ने पाक को चेताया, हमारे आतंरिक मामलों से दूर रहें

नई दिल्ली| कश्मीर में जारी तनाव के बीच सोमवार को पाकिस्तान सरकार और आतंकी हाफिज सईद ने पिछले दिनों मारे गए आतंकी बुरहान वानी को कश्मीरी नेता बताकर माहौल को और भड़का दिया है। भारत ने आरोप लगाया है कि कश्मीर हिंसा पर पाकिस्तान के बयानों से उसके ‘आतंकवाद को शह’ देने की पुष्टि होती है। कश्मीर में आतंकवाद पर पाकिस्तान के भड़काऊ बयानों पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने सख़्त प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “पाकिस्तान को हमारी सलाह है कि वह अपने पड़ोसियों के आंतरिक मामलों में दखल देने से परहेज करे।”गौरतलब है कि कश्मीर में हुए एनकाउंटर में बुरहान वानी के मारे जाने के बाद भड़की हिंसा में अब तक 20 से अधिक लोगों की मौत हुई है जबकि करीब 300 घायल हुए हैं।

जैसे ही पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हिज्बुल मुजाहिद्दीन के 22 साल के आतंकी बुरहान वानी को ‘कश्मीरी नेता’ बताया, वैसे ही भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान को भारत के आंतरिक मामलों से दूर रहने की चेतावनी जारी दी। पाकिस्तान के पीएम शरीफ के कार्यालय ने कहा, “पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भारतीय सेना और अर्धसैनिक बलों के हाथों कश्मीरी नेता बुरहान वानी और कई नागरिकों की हत्या पर गहरा दुख व्यक्त किया है।”

इस बीच पाकिस्तान को अमेरिका की ओर से झटका लगा है| अमेरिका ने कहा है कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और सभी पक्षों को वानी के मारे जाने के बाद घाटी में भड़के तनाव का शांतिपूर्ण समाधान निकालने की कोशिश करनी चाहिए| अमेरिकी विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमने कश्मीर में भारतीय बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों की खबरें देखी हैं और हम हिंसा से चिंतित हैं| हम सभी पक्षों को शांतिपूर्ण समाधान ढूंढ़ने की दिशा में काम करने को प्रोत्साहित करते हैं| प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका ने इस मुद्दे पर भारत से बात नहीं की है क्योंकि यह भारत का आंतरिक मामला है|

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक बयान जारी किया था| इसमें कहा गया कि वे कश्मीर में बुरहान वानी के मारे जाने से सदमे में हैं| इसके बाद पाकिस्तान की ओर से कहा गया कि वे कश्मीर का मुद्दा अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाएगा| ऐसे में अमेरिका के बयान से पाकिस्तान फिर अलग-थलग पड़ता नजर आ रहा है|

इस बीच पाक अधिकृत कश्मीर में हिज्बुल के बेस कैंप मुजफ्फराबाद में आतंकी बुरहान वानी की मौत पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस सभा को अंतरराष्ट्रीय आंतकी हाफ़िज सईद और सैयद सलाऊद्दीन ने संबोधित किया। सभा में वानी  के समर्थन में पोस्टर भी चिपकाए गए थे। जमात प्रमुख हाफिज सईद ने सार्वजनिक रूप से ‘और अधिक बुरहान वानी लाने’ की चेतावनी दी। गौरतलब है कि हाफिज को मुंबई हमले सहित भारत में हुई कई आतंकी घटनाओं का मास्‍टरमाइंड माना जाता है।

 कौन था बुरहान वानी?

  • 15 साल की उम्र में हिज़्बुल से जुड़ा
  • सेना से भाई की हत्या का बदला लेना चाहता था
  • कश्मीर के त्राल का रहने वाला
  • रसूखदार परिवार से था
  • हिज़्बुल ने पढ़े-लिखे नौजवानों को जोड़ने का ज़िम्मा सौंपा
  • दक्षिण कश्मीर में उसने हिज़्बुल को फिर से स्थापित किया
  • सोशल मीडिया पर वीडियो-तस्वीरों से लोकप्रिय था
  • अक्सर फ़ौजी वर्दी में नज़र आता था
  • हिज़्बुल मुजाहिद्दीन का पोस्टर ब्वॉय कहा जाता था
  • उस पर 10 लाख रुपये का इनाम था

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com