शराब के सहारे माहौल बना रहे नितीश

मोदी पर नरम, अखिलेश पर गरम दिखे बिहार के सीएम

लखनऊ। बिहार जैसे पिछडे राज्य में षराब बंदी का एतिहासिक कार्य करने वाले मुख्यमंत्री नितीश कुमार अब दारू के सहारे सियासी माहौल तैयार कर रहे है। इसे लेकर नितीश कुमार आगामी सितम्बर माह से देवरिया से दिल्ली तक जागरूकता यात्रा निकालने जा रहे है।

अन्य राज्यों में शराब बंदी की मांग को लेकर वह यहां के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर गरम और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर नरम दिखे। बिहार के सीएम आज लखनऊ आए हुए थे। बिहार में षराब बंद कराने के लिए उनका यहां के रविन्द्रालय सभागार में किसान मंच से जुडी महिलाओं ने सम्मान किया।

इस दौरान उनका संबोधन षराब बंदी को लेकर ही केन्द्रित रहा। उन्होंने यूपी में षराब बंद के लिए अखिलेश यादव से अपील की। यह भी कहा कि शराब बंद कराने में अखिलेश हमारा सहयोग नहीं कर रहे है।  सीमा से पांच किलोमीटर के दायरे में शराब की दुकानों को बंद कराने का आग्रह  किया था लेकिन उस पर ध्यान नहीं दिया गया।

उन्होनें यह भी कहा कि शराब बंद करने पर थोडे दिन तो खटपट होगी लेकिन बाद में सब कुछ सामान्य हो जायेगा। शराब बंद होने से लोगों का बचा पैसा बाजारों में लगेगा इससे सरकार का फायदा होने के साथ ही लोगों का जीवन स्तर भी सुधरेगा।नितीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि वह भी शराब बंदी के पक्षधर है।

इसी कारण गुजरात में पहले से शराब बंद है। मै उनके वार्ता करूंगा कि भाजपा शासित राज्यों में शराब बंद कराए। नितीश कुमार शराब के सहारे यूपी ही नहीं पूरे देश में एक माहौल तैयार करना चाहते है। इसीलिए उन्होंने देवरिया से दिल्ली तक यात्रा निकालने का ऐलान किया है।

जिससे इस यात्रा के बहाने वह सियासी पारा भी आंक लेंगे। कार्यक्रम में जदयू के नेता केसी त्यागी, प्रदेश अध्यक्ष सुरेश निंरजन भैया, सुभाष पाठक, किसान मंच के विनोद सिंह सहित काफी संख्या मे लोग मौजूद रहे।

शराब बंदी से होगा 19 हजार करोड का नुकसान

उत्तर प्रदेश में शराब बंद कराना आसान नहीं हैं। क्योंकि इस मद से प्रदेश सरकार को 18 हजार करोड का सालाना राजस्व प्राप्त होता हैं। प्रदेश सरकार ने इस लक्ष्य को 19 हजार करोड से अधिक का कर दिया है। हाल में अंग्रेजी शराब की बिक्री कुछ कमजोर हो गयी थी तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह अंग्रेजी शराब करीब बीस प्रतिशत तक सस्ती कर दी। इससे पुनः षराब की बिक्री बढ गयी है।

शराब व्यपारियों ने लगाये गो बैक के नारे

बिहार में शराब बंद होने से यूपी सहित पूरे देश की महिलाएं काफी खुश है वह इसे ऐतिहासिक कदम बता रही है। इसी कडी में आज किसान मंच से जुडी महिलाओं ने बिहार के सीएम नितीश कुमार का स्वागत किया। वहीं चारबाग स्थित रविन्द्रालय सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में शराब कारोबारियों ने नितीश गो बैक के नारे लगाए।

इतना ही नहीं उन्होंने काले झण्डे भी दिखाये। जिन्हें पुलिस ने समझा बुझा कर वापस कर दिया। इसे लेकर नितीश नें कहा कि मुझे मालूम है कि षराब बंदी की बात कहने पर हमारा विरोध होगा लेकिन हम इसकी परवाह नहीं करते। शराब बंदी को लेकर हमारा मिशन जारी रहेगा।

कहीं पे निगाहें, कहीं पे निशाना

बिहार में षराब बंद कराने वाले नितीश कुमार की कहीं पर निगाहें है तो कहीं पर निशाना है। उन्होनें आज यहां कहा कि हमारा लक्ष्य 2019 है। यानी उनका लक्ष्य देश की सत्ता है। लेकिन बिहार से सटे यूपी में आम चुनाव के कुछ माह पूर्व सक्रिय हो जाने का मतलब है कि उनकी निगाहें यूपी की सत्ता पर है।

क्योंकि बीते करीब एक दशक से यूपी में जद यू की विधानसभा एवं विधान परिषद में मौजूदगी शून्य है। इसलिए नितीश चाहते है कि यूपी में उनका गठबंधन किंग मेकर जरूर बन जाए। देवरिया से दिल्ली तक जाने वाली यात्रा का लक्ष्य यही है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com