सुप्रीम कोर्ट 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर पर फैसला सुना सकती: रामविलास वेदांती

यूपी के इटावा जिले में प्रभु श्रीराम की प्रतिमा की स्थापना कार्यक्रम में पहुंचे भाजपा के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने कई बड़े बयान दिए। जिससे सियासी घमासान मचना तय है। राम मंदिर मुद्दे पर रामविलास वेदांती ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जजों के हाथ में रिपोर्ट पहुंच चुकी है। सुप्रीम कोर्ट 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर पर फैसला सुना सकती है।

 

हिंदू सुप्रीम कोर्ट में आस्था रखते हैं। सुप्रीम कोर्ट की तुलना हंस से करते हुए रामविलास वेदांती ने कहा कि जैसे हंस चुनकर निर्णय करता है उसी तरह सुप्रीम कोर्ट दूध का दूध करके फैसला सुनाने वाला है।

देश के 80 प्रतिशत मुस्लिम राम मंदिर बनाए जाने के पक्ष में हैं। कई मुस्लिम अयोध्या ईंट-पत्थर लेकर गए थे, मैंने उनसे बोला था सुप्रीम कोर्ट का इंतजार करिए। इटावा में श्रीराम की मूर्ति की स्थापना हो रही है इसके बाद अयोध्या में श्रीराम की मूर्ति की भी स्थापना होगी। वह आगे बोले कि पीओके भारत का अभिन्न अंग है और हमेशा रहेगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com