आपके पास है इस सवाल का जवाब, मेट्रो स्ट्रेशन पर क्यों होती है पीली लाइन?

दिल्ली मेट्रो राजधानी में रहने वाले हर शख्स के लिए वरदान है और आज की तारीख में लगभग दिल्ली के हर कोने में मेट्रो दौड़ती ही दौड़ती है. इतना ही नहीं पटरी के साथ-साथ यह लोगों के दिलों में भी दौड़ती हुए नजर आती है. ख़ास बात यह है कि बहुत कम समय में इसने लोगों के दिल में अपनी अलग जगह बना ली है औरसमय पर पहुंचने से लेकर सुरक्षित और किफायती होने की वजह से आज यह दिल्ली के लोगों की सबसे पसंदीदा भी है. आज हम इसके बारे में आपको कुछ कहस बात बात बताने जा रहे हैं…

कई लोग अब दिल्ली मेट्रो में सफर कर चुके है और इसकी सुविधाओं से अच्छी तरह लोग वाकिफ भी होंगे, लेकिन बहुत सारी चीजें ऐसी हैं जिन्हें रोजाना मेट्रो में सफर करने वालों ने भी शायद ही कभी ध्यान दिया होगा. जैसे कि उदाहरण के रूप में मेट्रो स्टेशन पर पीली टाइल्स से बनी पीली लाइन.

जब यात्री मेट्रो का इंतजार कर रहे होते है तो उस समय आपने यह अनाउंसमेंट सुनी होगी कि ‘कृप्या पीली लाइन से पीछे ही खड़े हों’, यह बात सुरक्षा कारणो को ध्यान में रख कर बोली जाती है. वहीं मेट्रो प्लेटफॉर्म के पास तो पीली रेखा बनी ही होती है और इसके अलावा मेट्रो स्टेशन की एंट्री से लेकर कतार में खड़े रहने और प्लेटफॉर्म तक जाने में आपको पीली टाइल्स लगी हुई नजर आएगी. जानकारी के मुताबिक़, पीली टाइल्स टेक्टाइल पेविंग होती है, जो नेत्रहीन लोगों की सुरक्षा और मदद के उद्देश्य से लगाई जाती हैं और इनकी मदद से नेत्रहीन लोग उनपर चलकर अपनी छड़ी के सहारे से रास्ते का पता लगाते हैं.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com